Best Interesting Fact About Indian Railway In Hindi 2020-2021

0
229

Best Interesting Fact About Indian Railway In Hindi 2020-2021

भारतीय रेल के आश्चर्य चकित कर देने वाले 85 रोचक तथ्‍य- Indian Railway Facts in Hindi -Interesting Fact About Indian Railway रेल में यात्रा करना किसे पसन्द नहीं है? और अगर विंडो कि सीट मिल जाए तो सोने पर सुहागा हो जाऐ। आपने भी अनेकों बार रेल से यात्रा कि होगी। लेकिन क्‍या आप जानते हैं रेलवे के रोचक और अनजाने तथ्‍य । तो आईए जानते है रेलवे के आश्चर्य चकित कर देने वाले रोचक तथ्‍य।

6 जून 1981 को बिहार की बागमती नदी में एक यात्री ट्रेन के गिर जाने से करीब 800 लोगों की मौत हो गई। यह दुर्घटना भारत की सबसे बड़ी रेल दुर्घटनाओं में से एक है।

भारतीय रेल में 65,000 किलोमीटर लंबे नेटवर्क पर हर दिन 11,000 ट्रेनेंचलाई जाती है।

भारतीय रेलवे करीब 15 लाख लोगों रोजगार देता है।

फोर्ब्स के मुताबिक यह दुनिया का 9वां सबसे बड़ा एंप्लॉयर है।

भारतीय रेलवे में सबसे लंबी यात्रा डिब्रूगढ़ से कन्याकुमारी के बीच चलने वाली विवेक एक्सप्रेस है, जो लगभग 4286 किलोमीटर की दूरी तय करती है।

भारतीय रेलवे में सबसे छोटी यात्रा नागपुर से अजनी के बीच महज 3 किमी. के लिए भी ट्रेन चलाई जाती है।

त्रिवेंद्रम-निजामुद्दीन राजधानी एक्सप्रेस भारत की सबसे लंबी नॉन स्टॉप ट्रेन है।

हावड़ा-अमृतसर एक्सप्रेस सबसे ज्यादा 115 स्टेशनों पर रुकने वाली ट्रेन है।

भारतीय रेलवे में नई दिल्ली-भोपाल शताब्दी एक्सप्रेस भारत की सबसे तेज चलने वाली ट्रेन है।

भोपाल शताब्दी एक्सप्रेस की सर्वाधिक गति 150 किमी. प्रति घंटा है।

भारतीय रेलवे में नीलगिरी एक्सप्रेस 10 किमी. की औसर गति के साथ भारत देश की सबसे मंद गती की ट्रेन है।

भारत का सबसे बड़ा टनल कार्बुडे (Karbude) टनल है, जो कोंकण रेलवे रूट में है। इसकी दूरी 5 किलोमीटर है।

भारत में सर्वप्रथम रेल व्यवस्था की शुरुवात 16 अप्रैल 1853 में मुम्बई से थाणे के बीच प्रारम्भ हुयी |

भारतीय रेलवे ट्रैक की कुल लंबाई करीब 1,15,000 किलोमीटर है, जो 65,000 किलोमीटर के रूट पर है।

भारत में इस समय करीब 7,500 रेलवे स्टेशन हैं।

भारत में पहली पैसेंजर ट्रेन 15 अगस्त 1854 में पश्चिमी भारत में हावड़ा से हुगली के लिए चली थी, जिसकी दूरी 24 मीटर थी।

मेटुपाल्यम (Metupalayam) ऊटी नीलगिरी पैसेंजर ट्रेन भारत की सबसे धीरे चलने वाली ट्रेन है, जो 10 किलोमीटर प्रति घंटे की स्पीड से चलती है।

भारतीय रेलवे हर रोज करीब 11,000 ट्रेन चलाती है, जिनमें से 7000 पैसेंजर ट्रेन हैं। दुनिया के सबसे बड़े रूट रिले इंटरलॉकिंग सिस्टम के लिए नई दिल्ली रेलवे स्टेशन का नाम गिनीज बुक ऑफ रिकॉर्ड्स में भी शामिल है।

14 लाख से भी अधिक कर्मचारियों के साथ भारतीय रेलवे दुनिया का नवां सबसे बड़ा कॉमर्शियल एंप्लॉयर है।

2,733 फुट की दूरी के साथ पश्चिम बंगाल का खड़गपुर रेलवे स्टेशन सबसे बड़ा रेलवे स्टेशन है।

भारत का सबसे बड़ा रेल ब्रिज वेम्बानाद (Vembanad) रेल ब्रिज है, जिसकी लंबाई 62 किलोमीटर है।

भारतीय रेलवे न केवल दुनिया की चौथी सबसे बड़ी रेल सेवा है बल्कि यह दुनिया में सर्वाधिक लोगों को नौकरी प्रदान करने वाले प्रक्रमों में से एक है।

भारतीय रेलवे 63,974 किलोमीटर लंबे रेल मार्ग के साथ दुनिया का चौथा सबसे विशाल रेल यातायात नेटवर्क संचालित करने वाला प्रक्रम है।

भारतीय रेलवे अमेरिका, रूस, चीन तथा कनाडा के साथ दुनिया के पांच सबसे लंबी रेल नेटवर्क संचालित करने वाले प्रक्रमों से एक है।

यह एक अरब टन प्रतिवर्ष माल ढोने वाले रेल यातायात क्लब में शामिल हो गया है।

भारतीय रेलवे प्रतिदिन 19,000 ट्रेनों का संचालन करता है।

भारतीय रेलवे 12,000 ट्रेनें यात्री ट्रेनें हैं तथा 7,000 ट्रेनें माल ढोने के लिए हैं।

भारतीय रेलवे के अंतर्गत 7,083 स्टेशन

भारतीय रेलवे प्रतिदिन 5 लाख टन माल की ढुलाई करता है।

भारतीय रेलवे के अंतर्गत 230 लाख यात्री प्रतिदिन यात्रा करते हैं तथा 72 करोड़ यात्री प्रतिवर्ष भारतीय रेलवे का उपयोग करते हैं।

भारतीय रेलवे प्रक्रम के अंतर्गत 14 लाख कर्मचारी कार्यरत हैं।

इकोनॉमिस्ट पत्रिका के अनुसार, भारतीय रेलवे दुनिया की सातवीं सबसे बड़ी नियोक्ता प्रक्रम है।

अमेरिकी रक्षा विभाग, चीनी सेना, वॉल मार्ट, चीनी राष्ट्रीय पेट्रोलियम, स्टेट ग्रिड ऑफ चीन तथा ब्रिटिश स्वास्थ्य सेवा के बाद भारतीय रेलवे दुनिया की सबसे बड़ा नियोक्ता प्रक्रम है।

भारतीय रेलवे का राजस्व आधार प्रतिवर्ष 1,06,000 करोड़ रुपये है।

भारतीय रेलवे पिछले 170 वर्षो से अपनी सेवा प्रदान कर रहा है।

भारतीय रेल एशिया की सबसे बड़ी तथा विश्व की दुसरी बड़ी रेल व्यवस्था है।

विश्व की सबसे पहली रेलगाड़ी 1825 ई. में लिवरपूल से मैनचेस्टर के बीच चली थी।

भारतीय रेलवे बोर्ड की स्थापना मार्च 1905 में की गयी थी।

भारतीय रेल प्रशासन तथा प्रबंध की जिम्मेदारी रेलवे बोर्ड पर है।

रेलवे को 17 मंडलो में बांटा गया है प्रत्येक मंडल का प्रधान महाप्रबन्धक होता है।

बिश्व का सबसे लम्बा रेलमार्ग ट्रांस साइबेरियन रेलमार्ग है जो लेनिनग्राड से ब्लाडीवास्टक तक 9438 किमी लम्बा है।

बिजली से चलने वाली प्रथम रेलगाड़ी Deccan Queen थी जो मुम्बई एवं पुणे के बीच चली थी।

रेल इंजन निर्माण के कारखाने चितरंजन ,वाराणसी और भोपाल में स्थित है।

सवारी डिब्बो का निर्माण पेरम्बूर (चेन्नई के निकट) , कपूरथला , कोलकाता और बेंगलुरु में किया जाता है।

रेल इंजन बनाने का नया कारखाना मधेपुरा (इलेक्ट्रिकल इंजन) एवं मधौरा (डीजल इंजन) बिहार में स्थापित किया गया है।

रेल का पहिया बनाने का कारखाना छपरा (बिहार ) एवं रेल कोच फक्ट्री रायबरेली (उत्तर प्रदेश) में स्थापित किया गया है।

विश्व में सबसे पहली Metro Rail लन्दन में चली थी जिसकी शुरुवात 10 मई 1963 को हुयी।

विश्व की दुसरी सबसे लम्बी Metro Train है जिसकी लम्बाई 402 किमी है।

चीन की शंघाई मेट्रो विश्व की सबसे लम्बी मेट्रो रेन है जिसकी कुल लम्बाई 434 किमी है।

भारत में Metro Train की शुरुवात 24 अक्टूबर 1984 से कोलकाता में शुरू की गयी।

Metro Train की योजना 1972 में आ गयी थी, लेकिन इसको अमल में 1975 में लाया गया।

दिल्ली मेट्रो रेल की परियोजना जापान और कोरिया की कम्पनियों के सहयोग से बनाई गयी है।

दिल्ली मेट्रो रेल परियोजना के अंतर्गत पहली रेल सेवा 25 दिसम्बर 2002 को तीस हजारी से शाहदरा के बीच चलाई गयी।

बेंगलुरु में मेट्रो रेल की शुरुवात 20 अक्टूबर 2011 से Namma Metro के नाम से शुरू की गयी थी।

बेंगलुरु मेट्रो रेल के ढ़ांचागत सुविधाओं का विकास जापान के सहयोग से किया गया था।

मुम्बई मेट्रो रेल की शुरुवात 8 जून 2014 को हुयी।

Best Interesting Fact About Indian Railway In Hindi 2020,Interesting About Indian Railway,Best About Indian Railway,True About Indian Railway,Real About Indian Railway,Hindi About Indian Railway,Top About Indian Railway

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here